Friday, August 11, 2017

सूरत अग्रवाल समाज

loading...

loading...


Tuesday, August 1, 2017

Thursday, July 27, 2017

SUSHEEL KUMAR MODI - सुशील कुमार मोदी


बिहार के उप मुख्यमंत्री

सुशील कुमार मोदी (जन्म 5 जनवरी 1952) भारतीय जनता पार्टी के राजनीतिज्ञ और बिहार के तीसरे उपमुख्यमंत्री रह चुके हैं। वे बिहार के वित्त मंत्री भी रह चुके हैं।

शुरुआती जीवन

मोदी का जन्म 5 जनवरी 1952 को एक वैश्य मारवाड़ी परिवार में पटना में हुआ था। इनके माता का नाम रत्ना देवी तथा पिता का नाम मोती लाल मोदी था। इनका विद्यालय जीवन पटना के सेंट माइकल स्कूल में हुई। इसके बाद इन्होने बी.एस.सी. की डिग्री बी.एन. कॉलेज, पटना से प्राप्त की। बाद में इन्होने एम.एस.सी. का कोर्स छोड़ दिया और जय प्रकाश नारायण द्वारा चलाये गए आंदोलन में कूद पड़े।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के साथ

भारत-चीन युद्ध, 1962 के दौरान मोदी खासे सक्रिय थे और आम नागरिकों को शारीरिक फिटनेस व परेड आदि का प्रशिक्षण देने के लिये सिविल डिफेंस के कमांडेंट नियुक्त किये गये थे। उसी साल नौजवान सुशील ने आरएसएस यानी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की सदस्यता ज्वाइन की। 1968 में उन्होंने आरएसएस का उच्चतम प्रशिक्षण यानी अधिकारी प्रशिक्षण कोर्स ज्वाइन किया जो तीन साल का होता है। मैट्रिक की पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होंने आरएसएस के विस्तारक (पूर्ण कालिक वर्कर) की भूमिका में दानापुर व खगौल में काम किया और कई स्थानों पर आरएसएश की शाखाएं शुरु करवायीं। बाद में उन्हें पटना शहर के संध्या शाखा का इंचार्ज भी बनाया गया। मोदी के परिवार का रेडीमेड वस्त्रों का पारिवारिक कारोबार था और घर वाले चाहते थे कि वे कारोबार संभालें, लेकिन उन्होंने इस इच्छा के विपरीत जाकर सेवा का रास्ता चुना।

Wednesday, July 19, 2017

ARPAN DOSHI - ब्रिटेन में सबसे कम उम्र का डॉक्टर बना भारतीय



भारतीय मूल के डॉक्टर अर्पण दोषी उत्तर-पूर्वी इंग्लैंड के यॉर्क टीचिंग हॉस्पिटल में जूनियर डॉक्टर के तौर पर प्रैक्टिस शुरू करेंगे।

लंदन, प्रेट्र : भारतीय मूल के डॉक्टर अर्पण दोषी उत्तर-पूर्वी इंग्लैंड के यॉर्क टीचिंग हॉस्पिटल में जूनियर डॉक्टर के तौर पर प्रैक्टिस शुरू करेंगे। यह प्रैक्टिस दो साल तक चलेगी। माना जा रहा है कि वे ब्रिटेन के सबसे कम उम्र के डॉक्टर हैं।शेफील्ड यूनिवर्सिटी से अर्पण ने सोमवार को 21 साल और 335 दिन की उम्र में डॉक्टरी की पढ़ाई पूरी की। इससे पहले रसेल फेहिल सबसे कम उम्र के डॉक्टर के रूप में मशहूर थे। लेकिन, अर्पण ने उनसे 17 दिन कम उम्र में डिग्री ली है।

अर्पण कहते हैं कि मैं हमेशा से डॉक्टर बनना चाहता था। मुझे पढ़ाई के दौरान उम्र को लेकर किसी तरह की कोई परेशानी नहीं आई। मानव शरीर आखिर काम कैसे करता है, इसे बारे में मैं बचपन में अक्सर सोचता था। डॉक्टर बनकर दूसरों की मदद करने की भी सोच थी।साल 2009 में अर्पण भारत से फ्रांस चले गए, जहां उनके पिता को परमाणु परियोजना में नौकरी मिली। वहां उन्होंने स्थानीय विश्वविद्यालय में एडमिशन लिया।

16 साल की उम्र में उन्होंने अंतरराष्ट्रीय स्तर की प्रवेश परीक्षा पास की। यह परीक्षा फ्रांस में ही ली गई थी। इसमें उन्हें भौतिकी, रसायन विज्ञान, अर्थशास्त्र, गणित, अंग्रेजी और हिंदी की परीक्षा पास करनी पड़ी। प्रवेश परीक्षा में उन्हें 45 में से 41 अंक प्राप्त हुए थे जिसके बाद शेफील्ड यूनिवर्सिटी ने 13 हजार पाउंड की स्कॉलरशिप प्रदान की। भारत लौट चुके अपने माता-पिता के बारे में वे कहते हैं कि उनको मुझ पर गर्व है। उन्होंने हमेशा मुझे प्रोत्साहित किया है।

साभार:  jagran.com/news/world-indian-made-youngest-doctor-in-britain-16401274.htmlI